तहसील गोपदबनास के 2840 किसानों के 19 करोड़ 62 लाख रुपये के फसल ऋण माफ

0
97

तहसील गोपदबनास के 2840 किसानों के 19 करोड़ 62 लाख रुपये के फसल ऋण माफ

सीधी ,,,,पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने उत्कृष्ट विद्यालय सीधी के प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में किसानों को जय किसान फसल ऋण माफी योजना के प्रमाण पत्र वितरित किए। योजना अंतर्गत तहसील गोपदबनास के 2840 किसानो के लगभग 19 करोड़ 62 लाख रुपये के ऋण माफ किये गये हैं। इस अवसर पर पंचायत मंत्री श्री पटेल ने कहा कि प्रदेश सरकार किसानों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। किसानों के हित के लिए कोई कमी नहीं छोड़ी जायेगी। पिछले डेढ़ दशक में किसानों की ऋणमाफी का जो कार्य नहीं हो सका उसे मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने पद की शपथ लेते ही एक घण्टे के अंदर पूरा कर दिया है। इसी प्रकार सरकार अपने सभी वचनो को पूरा करेगी।
पंचायत मंत्री ने कहा कि इंदिरा किसान ज्योति योजना के माध्यम से किसानो के 10 हार्सपावर के सिंचाई पंपो का बिजली बिल आधा कर दिया गया है। घरेलू बिजली में 100 यूनिट पर 100 रूपये का ही बिल लिया जायेगा। इसके साथ ही किसानो को 10 घण्टे बिजली और घरेलू बिजली 24 घण्टे उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये हैं। जिसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। पूर्व की सरकार में बिजली के चक्कर में लोगो को पुलिस और अदालतों के चक्कर लगाने पड़ रहे थे। सरकार ने बिजली के संबंध में अपने वचनों को पूरा किया है। इसी तरह सामाजिक पेंशन योजना अंतर्गत राशि को बढ़ाकर 600 रुपये कर दिया गया है जिसे क्रमशः बढ़ाकर एक हजार रुपये किया जायेगा। वचनपत्र की हर बात पर अमल होगा। प्रदेश का विकास करने में सरकार किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतेगी। प्रदेश सरकार हर वर्ग के विकास के लिये प्रतिबद्ध है।
सामूहिक विवाह कार्यक्रम में 248 युगलों का विवाह सम्पन्न
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने शिवरात्रि के शुभ अवसर पर मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत आयोजित भव्य सामूहिक विवाह कार्यक्रम में 248 नवयुगलों को विवाह की शुभकामनाएं दी। इसमें 4 निःशक्त जोड़ें से सम्मिलित रहें। पंचायत मंत्री श्री पटेल ने कहा कि सरकार की पहली प्राथमिकता ऐसे गरीब जो आर्थिक अभाव में अपनी बेटियों का विवाह नहीं कर पाते सामूहिक विवाह कार्यक्रमों का आयोजन कर बेटियों का विवाह कराना है। उन्होंने कहा कि सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री ने एक घंटे के अंदर पहला काम किसान ऋण माफी योजना का किया उसके पश्चात मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के अन्तर्गत 28 हजार रूपये की राशि को बढ़ाकर 51 हजार रूपये कर दिया। योजना में कोई भ्रष्टाचार नहीं हो अतरू विवाह की 48 हजार रूपये की राशि सीधे कन्या के खाते में जमा करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि किसी गरीब कन्या का विवाह कराना पुण्य से कम नहीं है। इस योजना से आमजन को फायदा होगा। उन्होंने नवयुगलों को समृद्ध एवं सुसंपन्न जीवन की शुभकामनाए दी।
पंचायती राज संस्थाओं को अधिकार संपन्न बनाया जायेगा
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल ने कहा कि प्रदेश में पुनः त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था को स्थापित किया जायेगा। जनप्रतिनिधियों को अधिकार सम्पन्न बनाया जायेगा। पंचायत प्रतिनिधियों के विकास राशि के अधिकार में वृद्धि करने की घोषणा भोपाल में पंचायत प्रतिनिधियों की कार्यशाला में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने किया है। जिसे शीघ्र क्रियान्वित किया जायेगा। उन्होने कहा कि ग्राम युवा शक्ति संगठन का गठन ग्राम पंचायतों में किया जा रहा है। यह संगठन युवाओं को ग्राम के विकास में सहभागी बनायेगा तथा सामाजिक बुराइयों के अंत करने में योगदान करेगा। इससे युवा शक्ति का उपयोग ग्राम एवं देश की प्रगति में किया जा सकेगा।
स्वसहायता समूह के कर्ज भी होंगे माफ
पंचायत मंत्री श्री पटेल ने कहा कि आजीविका मिशन की स्वसहायता समूह की महिलायें बेहतर कार्य कर रही हैं। उन समूहों के द्वारा लिए गए ऋण को भी माफ कर उन्हे स्वावलंबी बनाने का कार्य किया जायेगा। महिलाओं के आर्थिक रूप से सम्पन्न होने पर प्रदेश और देश विकास करेगा। उन्होने कहा कि सरकार आजीविका मिशन की समस्याओं को दूर करने के लिए कृत संकल्पित है। योजनाओं का सही ढंग से क्रियान्वयन कर उन्हे लाभान्वित किया जायेगा।
पांच गौशालाओं का शिलान्यास
पंचायत मंत्री श्री पटेल ने जनपद पंचायत सीधी अंतर्गत 05 गौशालाओं के निर्माण का शिलान्यास किया। जनपद पंचायत सीधी अंतर्गत ग्राम पंचायत बघमरिया, पिपरोहर, भाठा, भेलकी खुर्द एवं तेन्दुआ में प्रत्येक 53 लाख 52 हजार रूपये लागत के गौशालाओं का निर्माण किया जाना है। इस अवसर पर उन्होने कहा कि प्रदेश सरकार ने 1000 ग्राम पंचायतों में गौशाला निर्माण के लिये प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है। इससे एक ओर जहाँ गौवंश की रक्षा होगी, युवाओं को रोजगार मिलेगा उसके साथ ही किसानो के फसल की रक्षा भी होगी। श्री पटेल ने कहा कि सभी ग्राम पंचायतों में जमीन की उपलब्धता के आधार पर गौशालाओ का निर्माण किया जायेगा।
पंचायत मंत्री श्री पटेल ने सीधी जिले को प्रगति के मार्ग पर प्रशस्त करनें के लिए सभी से मिलकर कार्य करनें की अपील की। उन्होने समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को अपने कर्तव्यों का सही ढंग से पालन करने के निर्देश दिए। वो निष्पक्ष ढंग से सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन कर सभी पात्र हितग्राहियों को जनकल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित करें। राजनैतिक विचार धाराओं से प्रभावित हुए बिना अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें। उन्होने सिहावल, कुसमी, मझौली, बहरी, सेमरिया जैसे कस्बों में सार्वजनिक शौचालयों के निर्माण के निर्देश दिए हैं जिससे आमजनों को विशेषकर महिलाओं को सुविधा हो सके।
विकास कार्यों के लिए कलेक्टर की सराहना की
पंचायत मंत्री श्री पटेल ने जिले के विकास एवं स्वास्थ्य सुविधाओं विशेषकर जिला चिकित्सालय में किये गये कार्य के लिए कलेक्टर अभिषेक सिंह की सराहना की। उन्होने कहा कि जिला चिकित्सालय को व्यवस्थित साफ सुथरा करने में अच्छा कार्य किया गया है। पूर्ववर्ती सरकारों ने निजी चिकित्सालयों को लाभ दिलाने के लिए स्वास्थ्य व्यवस्था में ध्यान नहीं दिया है। स्वास्थ्य से जुड़ी संस्थाओं को बेहतर बनाने के प्रयास किये जा रहे हैं। सरकार की यह प्राथमिकता है कि जिला चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, उपस्वास्थ्य केन्द्र बेहतर हो उनमें लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें।
कलेक्टर अभिषेक सिंह ने बताया की योजना अंतर्गत जिले के 16687 किसानो का लगभग 93 करोड़ 56 लाख रुपये का ऋण माफ किया जा रहा है। फर्जी ऋण वितरण सम्बन्धी प्राप्त शिकायतों की जाँच की जा रही है इसमें जो भी व्यक्ति दोषी पाये जायेंगे उनके विरुद्ध कड़ी दंडात्मक कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने कहा कि जिन कृषकों के ऋण माफ कर दिये गये हैं और वे कार्यक्रमों में उपस्थित नही हुए हैं उनके घर तक ऋण माफी के प्रमाण पत्र पहुँचाये जायेंगें, किसानो को किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होगी।
इनकी रही उपस्थिति – अध्यक्ष जनपद पंचायत सिहावल श्रीमान् सिंह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चिन्तामणि तिवारी, पुलिस अधीक्षक तरूण नायक, अपर कलेक्टर डी.पी. वर्मन, उपखण्ड अधिकारी गोपद बनास के.पी. पाण्डेय, आनन्द सिंह चौहान, राजेन्द्र सिंह भदौरिया, सुरेश प्रताप सिंह, भानू पाण्डेय, हरिहर गोपाल मिश्रा, कुमुदनी सिंह, रंजना मिश्रा, आनन्द सिंह शेर, विनय सिंह परिहार, प्रदीप सिंह, आनन्दमंगल सिंह, अब्दुल समद, सुरेश पाण्डेय, विनोद वर्मा, दिनेश द्विवेदी, पंकज सिंह, जय सिंह, प्रवेश सिंह, गेंदलाल कोल, विनोद विश्वकर्मा, राजबहोर जायसवाल, हरिहर सोनी, रोहन सिंह, संदीप द्विवेदी, अब्दुल मनीद, सहित जनप्रतिनिधिगण, प्रशासनिक अधिकारी एवं हितग्राही उपस्थित रहें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here