पूछताछ के लिए युवक को पुलिस ने ले गई थाने,, घर आया युवक का शव,,गुस्साए परिजनों ने घेरा थाना, किया पथराव, थाना प्रभारी सहित 4 आरक्षक निलंबित

0
629

इंदौर. पूछताछ के लिए युवक को पुलिस ने ले गई थाने,, घर आया युवक का शव,,गुस्साए परिजनों ने घेरा थाना, किया पथराव, थाना प्रभारी सहित 4 आरक्षक निलंबित बता दें कि गांधी नगर थाने में पुलिस कस्टडी में हुई युवक की मौत से गुस्साए लोगों ने बुधवार को थाने का घेराव कर चक्काजाम कर पथराव कर दिया। बुधवार सुबह से सैकड़ों की संख्या में लोग थाने का घेराव करने पहुंचे और नारेबाजी करते हुए हमकर हंगामा किया। सूचना के बाद मंत्री पटवारी मौके पर पहुंचे और कार्रवाई का आश्वासन देते हुए राहत राशि देने की घोषणा की। पटवारी के जाते ही परिजनों ने पुलिस पर पथराव कर दिया। पुलिस ने हलका बल प्रयोग कर उपद्रवियों को वहां से भगाया।

रिजवाय गांव निवासी संजय टिपानिया को गांधी नगर पुलिस चोरी के मामले में गिरफ्तार करके लाई थी, लेकिन उसकी तबियत बिगड़ने के बाद मंगलवार शाम को उसकी पुलिस कस्टडी में ही मौत हो गई। इस मामले में थाने की टीआई नीता डेयरवाल समेत चार आरक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। गुस्साए लोगों का कहना था कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। वहीं, मामले की जानकारी मिलते ही उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी भी मौके पर पहुंच गए और आश्वासन दिया कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी।

चोरी के आरोप में पकड़े गए आरोपी के मौत से नाराज परिजनाें और गांव के लोगों का गुस्सा थमने का नाम नहीं ले रहा है। गुस्साए ग्रामीणों ने बुधवार को सुबह थाने का घेराव करने के साथ ही चक्काजाम भी कर दिया। इस दौरान लोगों ने पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वहीं, दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की है। लोगों के गुस्से को देखते हुए थाने पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। बार-बार समझाइश के बाद भी लोगों का गुस्सा शांत नहीं हुआ तो आखिरकार क्षेत्रिय विधायक और उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने मौके पर आकर मामला शांत करवाया।

मृतकों के परिजनों को मिलेंगे चार से पांच लाख रुपए : इस दौरान पटवारी ने मृतक के परिजनों से मुलाकात की और आक्रोशित ग्रामीणों को आश्वासन दिया कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के साथ ही जिला प्रशासन को कहा है कि तत्काल मृतक के परिजनों को राहत राशि के तौर पर चार से पांच लाख रुपए दिए जाएं। इसके अलावा मुख्यमंत्री कमलनाथ से भी चर्चा करके हर संभव मदद दी जाएगी। इस मामले की मजिस्ट्रियल जांच करवाई जा रही है, उसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

विभागीय कार्रवाई जारी, टीआई सहित चार निलंबित : एएसपी गुरू प्रसाद पाराशर का कहना है कि पुलिस ने इस मामले में टीआई और चार लोगों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की है। इसके तहत उन्हें निलंबित कर दिया गया है। आगे मामले की जांच की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here