एक बार फिर 12 कार्यों को जिला पंचायत सीईओ ने किया निरस्त ,फर्जी हस्ताक्षर से काम जारी करने की खुल रही परतें

0
643


आरबी सिंह सीधी । सीधी जिला पंचायत को सुर्खियों में रहने की आदत सी पड़ गई है। अभी नया मामला जिला पंचायत में सीईओ के फर्जी हस्ताक्षर से निर्माण कार्यो की अनुमति जारी किया जाना पाया गया है। जिस मामले की परत दर परत खुल रही है। अब एक फिर से जिला पंचायत सीईओ ने 12 कार्यों को तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दिया गया है। 12 कार्यो में 6 कार्य रामपुर नैकिन जनपद के हैं तो वहीं 6 कार्य सीधी जनपद के शामिल हैं। जिला पंचायत सीईओ ने एक बार फिर 18 मई को पत्र जारी किया है और उसमें उल्लेख किया है कि आदेश क्र/8074/मनरेगा/जिपं/2020 पत्र क्रमांक 2086/एम.जी.एन.आर.ई.जी.एस.-एमपी./एप्रोच सड़क/ जिपं/2019-20 सीधी दिनांक 13 फरवरी 2020 पत्र क्रमांक 1202/तक/ग्रायसे/2019 सीधी दिनांक 28 जनवरी 2020 पत्र क्रमांक 1204/मनरेगा/जिपं/2019 सीधी दिनांक 29 जनवरी 2020 एवं पत्र क्रमांक 7989/एम.जी.एन.आर.ई.जी.एस.-एमपी/निर्माण 2020-21 सीधी दिनांक 23 मई 2020 द्वारा मनरेगा योजनान्तर्गत एप्रोच रोड/स्टापडैम/जीर्णोद्धार के कार्य जिए जाने की अनुमति प्रदान की गई थी एवं उक्त कार्यों की स्वीकृति की नस्ती इस कार्यालय से प्रचलित होना नहीं पायी गई। पत्र क्र 2086 दिनांक 13 फरवरी 2020, 1202 दिनांक 28 जनवरी 2020,7919 दिनांक 13 मई 2020 डिस्पैच रजिस्टर में पाये गए है एवं पत्र क्र.1204 दिनांक 29 जनवरी 2020 डिस्पैच रजिस्टर में नहीं पाया गया। पत्र क्र 2086 दिनांक 13 फरवरी 2020 वएं 1202 दिनांक 28 जनवरी 2020 मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत रामपुर नैकिन एवं 7919 दिनांक 13 मई 2020,1204 दिनांक 29 जनवरी 2020 आरएस गुप्ता सहायक यंत्री जनपद पंचायत सीधी द्वारा सत्यापन हेतु व्हाट्सएप्प पर उपलब्ध कराया गया है जिसका परीक्षण किया गया कार्यालय में कार्यो की नस्ती प्रचलित नहीं होने से उपरोक्त पत्र फर्जी होना पाया गया है। अत: उपरोक्त पत्र द्वारा जारी कार्यो की अनुमति तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दी गई है। अब देखना यह है कि अभी कितने ऐसे कार्य है जो फर्जी दस्तखत से जारी किए गए हैं। अभी तो ये सिर्फ मनरेगा का हाल है अभी तो जिला पंचायत में कई विभाग हैं। 
इनका कहना है
सीधी और रामपुर नैकिन जनपद के कुछ ग्राम पंचायतों को सुदूर सड़क एप्रोच मार्ग एवं अन्य कार्य स्वीकृत किए गए हैं जो पूरी तरह से फर्जी है जिसकी जांच जारी है। जांच के बाद दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।  ए.बी. सिंह सीईओजिला पंचायत सीधी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here