सीधी जिले के कंटेनमेंट एरिया कोल्हूडीह में दो पक्षों ने जमकर भांजी लाठियां,घायलों ने जिला चिकित्सालय में भी की स्वास्थ्य कर्मियों से अभद्रता,

0
1426

【आर.बी. सिंह राज】

सीधी।जिले के कंटेनमेंट एरिया कोल्हूडीह में कल रविवार की सुबह करीबन 4 बजे के लगभग दो पक्षों में जमकर लाठी-डंडे चले जिसके उपरांत दोनों पक्षों के घायलों को डायल हंड्रेड की मदद से जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।
वहीं जिला अस्पताल में पहुंचे इलाज के दौरान घायल एवं उनके परिजनों द्वारा मास्क न लगाने को लेकर चिकित्सकीय टीम द्वारा टोके जाने पर इन लोगों में से कुछ तो डॉक्टर तथा स्टाफ नर्स से भी गाली गलौज कर मारपीट करने में उतारू हो गए।ये है पूरा मामलाजिले के पहला कोरोना संक्रमित पाए जाने वाले मरीज के गृह ग्राम कोल्हूडीह में रविवार को प्रातः कालीन 4 बजे के लगभग साहू और प्रजापति समाज में पुरानी रंजिश को लेकर साहू समाज द्वारा गाली गलौज दिए जाने लगा। बताया गया कि प्रजापति समाज के लोगों ने पहले समझाइश देते हुए विवाद करने से मना किया पर दोनों पक्षों में बात बढ़ने लगी और बात इतना बढ़ गई कि दोनों पक्षों ने जमकर एक दूसरे पर लाठियां भांजी।
जानकारी के अनुसार कोल्हूडीह निवासी आरोपी पक्ष राजकली पति जगसेन साहू 45 वर्ष, उर्मिला साहू पति सुनील साहू 23 वर्ष, सोमनाथ साहू पिता छबिलाल साहू 71 वर्ष, विजय साहू पिता जगदीश साहू 17 वर्ष, तथा संजय साहू पिता जगदीश साहू 22 वर्ष, पुरानी रंजिश को लेकर पीड़ित पक्ष राजू प्रजापति पिता मकसूदन प्रजापति 18 साल, जुगल किशोर प्रजापति पिता मकसूदन प्रजापति 32 साल, श्याम बिहारी पिता मकसूदन प्रजापति 23 साल तथा बाल्मीकि प्रजापति पिता मकसूदन प्रजापति 25 से पुरानी रंजिश को लेकर गाली गलौज करने लगे, बात इतनी बढ़ गई कि आरोपी पक्ष ने जमकर लाठियां भांजी। जहां पीड़ित पक्ष भी पीछे नहीं रहा है और उसने भी लाठियां चटकाई।

ड्यूटी डॉक्टर तथा नर्सेस से भी की गई अभद्रता

आरोपी पक्ष साहू परिवार द्वारा जिला चिकित्सालय में ड्यूटी के दौरान डाक्टर तथा स्टाफ नर्सों के साथ भी गाली गलौज कर अभद्रता की गई।
ड्यूटी में तैनात डॉक्टर आशीष सिंह द्वारा सभी घायलों को मास्क लगाने के लिए बोला गया इस पर प्रजापति परिवार ने तो जैसे तैसे मास्क लगाया लेकिन साहू परिवार मास्क ना लगाने को लेकर डॉक्टर से अभद्रता करने पर उतारू हो गया तथा गाली गलौज करते हुए सर्जिकल स्टाफ नर्स के चेंबर में घुसने लगा, जहां डॉ आशीष सिंह ने रोकने का प्रयास किया जिस पर घायल साहू परिवार के परिजनों ने डॉ. आशीष सिंह तथा स्टाफ नर्स नेहा पांडे से जमकर अभद्रता व गाली-गलौज कर उत्पात मचाया गया।

कंटेनमेंट एरिया में झगड़े की वारदात से सुरक्षा व्यवस्था पर उठा सवाल ?

जिले में पहले कोरोना संक्रमित व्यक्ति के कंटेनमेंट एरिया कोल्हूडीह में जहां पुलिस ने अपना विशेष पहरा बैठा रखा है तथा लोगों को घर से बाहर ना निकलने की सख्त हिदायत दी गई है और पुलिस खुद वहां की मॉनिटरिंग कर रही है बावजूद इसके उस क्षेत्र में भी लोगों का अपने घरों से बाहर निकलकर सामूहिक संघर्ष करना पुलिस की मानीटरिंग और उसकी कार्यप्रणाली पर एक बड़ा सवाल खड़ा करता है?
वर्तमान में जिले के सबसे संवेदनशील कंटेनमेंट एरिया में कड़ी सुरक्षा के बावजूद दो पक्षों में इतना बड़ा बवाल होना कहीं ना कहीं पुलिस की नाकामी प्रदर्शित करता है।
साथ ही लोगों का झगड़े के बाद भी भीड़ की संख्या में जिला चिकित्सालय पहुंचना तथा अस्पताल परिसर के अंदर हंगामा मचाना सुरक्षा व्यवस्था में सेंध लगाने जैसी हालत है।

ऐसे होना चाहिए था उपचार

जिले के संवेदनशील कंटेनमेंट एरिया में घायल व्यक्तियों की जानकारी सुरक्षा व्यवस्था में तैनात पुलिसकर्मियों को पहले स्वास्थ्य विभाग को देना चाहिए था तत्पश्चात जिला चिकित्सालय में उपचार के लिए उनकी अलग व्यवस्था बनाई जा सकती थी। जिससे कि जिला चिकित्सालय को इस महामारी जैसे संक्रमित क्षेत्र से आए हुए लोगों से बचाया जा सके लेकिन कड़ी सुरक्षा के बावजूद भी मारपीट करना तथा भीड़ की संख्या में जिला चिकित्सालय में आकर हंगामा करना कहीं ना कहीं पुलिस की नाकामी दिखाता है।

इनका कहना है

मामले की जांच कराई जाएगी: कलेक्टर

घायलों को छोड़कर 20 से अधिक लोगों को अस्पताल परिसर में नहीं आना चाहिए था अगर ऐसा हुआ तो मैं इसकी जांच कर कार्रवाई करूंगा तथा डॉक्टर के साथ गाली गलौज मारपीट करने वाले नहीं बक्से जाएंगे, उनके खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

रवींद्र चौधरी
कलेक्टर, सीधी

=================

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here