सीधी।तेंदू पत्ता संग्राहकों के उडे़ होस, भारी नुकसानी की सम्भावना संक्रमण के साथ प्रकृति भी ढा रही कहर।

0
40


सीधी मझौली–देश में फैल रहे कोविड-19 संक्रमण की मार झेल पड़ रहा है वही प्राकृतिक भी कहर ढा रही है। एक ओर जहां पूर्व में पडे़ ओले से किसानों की भारी नुकसानी हुई वहीं तेदूपत्ता श्रमिकों को भी खराब मौसम के कारण पत्ता तुड़ाई का पर्याप्त समय नहीं मिल पाया मात्र 8-10 दिन की तुड़ाई कार्य कराया गया जो मौसम के कारण बन्द कर दिया गया जबकि लक्ष्य की पूर्ति अभी बांकी थी। पत्ता तुड़ाई कार्य देरी से होनें के कारण बोरा भर्ती का कार्य अभी चालू ही नहीं हो पाया है बता दे कि जिले भर के साथ मझौली में प्राकृति का प्रकोप छाया हुआ है तो अब तेदूपत्ता संग्राहकों के साथ क्रेता व वन विभाग के कर्मचारियों के नाक में दम कर रखा है 29 मई को आई तूफान व हल्की बारिष के साथ तेदूपत्ता का नुकसान हुआ है वहीं लगातार हो रही वारिष ने भर्ती का कार्य रोक रखा है जो गड्डिया फड़ में पड़ी है दीमक व वर्षा के कारण नुकसान हो रही है जिसे बचाने के लिए वन विभाग एवं सग्रहण कर्ता जुगाड़ में लगे हुए है। पर वर्षा के कारण कोई उपाय काम नहीं कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here