सीधी जिले के ऐतिहासिक शिव मंदिर चंदरेह में दूर-दूर से पहुंचते हैं श्रद्धालु

0
14


उपेन्द्र मिश्रा सीधी

 जिला मुख्यालय से लगभग 55 किलोमीटर दूर स्थित चंदरेह शिव मंदिर भक्तों के लिए सदैव से आकर्षण का केन्द्र रहा है। इस शिव मंदिर में सीधी जिला सहित दूर-दूर से लोग यहां दर्शन के लिए आते हैं। ग्रामीणों की माने तो ये हजार वर्ष पुराना शिव मंदिर है जो चेदि वंश के प्रारंभिक काल का है। मंदिर की शिल्प कला अनोखी है मंदिर एक ऊंची जगती पर स्थित है इस मंदिर में एक गोलाकार गर्भ ग्रह है, गर्भ ग्रह का शिखर सघन चैत्य मुखो से अलंकृत है, खास बात तो यह है कि शिवलिंग बहुत ही प्राचीन और बहुत ही भव्य है।स्थानीय लोगों का ऐसा मानना है कि इस शिव मंदिर का निर्माण स्वयं भगवान विश्वकर्मा जी ने एक रात में किया था। इस मंदिर के दक्षिणी भाग में एक बहुत ही पुराना महल है जिस महल में बहुत से राज छिपे हुए हैं कुछ अनोखी लिपि के द्वारा लिखा हुआ रहस्यमई शिलालेख है। और बहुत सी बातें इस लिपि में छिपी हुई है जिसे आज तक कोई भी नहीं पढ़ पाया है।

सबसे खास बात एक यह भी है किशिवलिंग को स्नान करने के बाद जो पानी बाहर जाता है वह मगरमच्छ के आकार वाली मूर्ति रुप से बाहर निकल जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here